Judai Status | Judai shayari | Shayari on Judai 2021

Judai Status | Judai shayari | Shayari on Judai 2021


नमस्कार दोस्तों, प्रस्तुत है आपके लिए एक और जुदाई शायरी। ये शायरी आपको बहुत कुछ याद दिला देगी। अगर आप का breakup हो गया है तो आप को बहुत कुछ याद करने वाले हैं, आशा है की आप को ये शायरी पसंद आएगी

Hello friends, here's another separation shayari for you. This poetry will remind you a lot. If you have a breakup then you are going to miss a lot, hope you will like this poetry.


1. हाथ छूट जाना याद है 
1. Haath Chhoot Jana Yaad Hai


वो हाथों से हाथ छूट जाना याद है 

हां मुझे वो बेबस ज़माना याद है 

ना तेरी कमी थी ना मेरा कसूर 

बस कुदरत को मंजूर नहीं ये बहाना याद है 


Vo Haatho se haath chhoot jana yaad hai

Ha mujhe vo bebas zamana yaad hai

Na teri kami thi na mera kasoor

Bas kudrat ko manzoor nahi ye bahana yaad hai



बिन कुछ कहे सब कुछ हो जाना याद है 

बिन आंसुओं के आंखों का रो जाना याद है 

हां याद है मुझे तेरा आखरी आंसू 

और उसका भी आंखों में गुम हो जाना याद है


BEST JUDAI SHAYARI। JUDAI KI SHAYARI IN HINDI

जुदाई शायरी । JUDAI STATUS IN HINDI | JUDAI KI SHAYARI


Bin kuchh kahe sab kuchh ho jana yaad hai

Bin aasuo ke aankho ka ro jana yaad hai

Ha yaad hai mujhe tera aakhari aasu

Or uska bhi aankho me gum ho jana yaad hai


वो पहली नजर का प्यार समझ आना याद है 

वो लाख कोशिसें मेरी तेरा मुकर जाना याद है 

और याद हैं तेरी तिरछी तीर निगाहें 

और उन तीरों का दिल में उतर जाना याद है 


Vo pehli nazar ka pyar samajh aana yaad hai

Vo lakh kosise meri tera mukar jana yaad hai

Or yaad hai teri tirchhi teer nigaagen

Or un teero ka dil me uter jana yaad hai


2. तुझसे फिर मुलाकात हुई है
2. Tujhse Fir Mulakat Hui Hai


कई दिनों बाद तुझसे फिर मुलाकात हुई है

आज फिर तेरी यादों से कुछ बात हुई है

मगर तेरी नफरत ने आज भी मुस्कुराने नहीं दिया

ना पहले कुछ समझे और ना अब बताया क्या बात हुई है


Kai dino baad tujhse fir mulakat hui hai

Aaj fir teri yaadon se kuchh baat hui hai

Mager teri nafrat ne aaj bhi muskurane nahi diya

Na pehle kuchh samajhe or na ab bataya kya baat hui hai


दिन भी मैंने रो रोकर काटे

रोती सी मेरी हर रात रही है

और कहना तो पहले भी था बहुत कुछ और अब भी

मगर अब तुझे देख मेरी सारी बातें बेबाक रही हैं


Din bhi maine ro roke kate

Roti si meri har raat rahi hai

Or kehna to pehle bhi tha bahut kuchh or ab bhi

Mager ab tujhe dekh meri saari baaaten bebaak rahi hain


नफरत से भरी शायरी । NAFRAR SHAYARI | HEART BROKEN SHAYARI IN 2020

NAFRAT SHAYARI । NAFRAT STATUS। नफरत की शायरी


तू दिल में पहले भी खास थी

जगह तेरी अब भी वो खास रही है

बस पहले वहां तेरी खुशबु तेरी आहट तेरा एहसास हुआ करता था

वहां बची मेरे जज़बातों की अब राख रही है


Tu dil me pehle bhi khas thi

Jagah teri ab bhi khas rahi hai

Bas pehle waha teri khushbu teri aahate tera ehsaas hua karta tha

Waha bachi mere jazbaaton ki ab raakh rahi hai


खाबों में भी कहाँ पहली सी मुलाकात रही है

या मेरी खाबों की भी ना अब औकात रही है

किसी और में तेरी सी बात तो है ही नहीं

मगर अब तुझमे भी कहाँ वो तेरी सी बात रही है


Khabo me bhi kaha pehli si mulakat rahi hai

Ya meri khabo ki bhi na ab aukaat rahi hai

Kisi or me teri si baat to hai hi nahi

Mager ab tujhme bhi kaha vo pehli se baat rahi hai



Judai Shayari

love shayari

Newest
Previous
Next Post »